ब्लोगिंग जगत के पाठकों को रचना गौड़ भारती का नमस्कार

Website templates

समर्थक

शनिवार, 19 सितंबर 2009

जिन्दगी है तो


जिन्दगी है तो कुछ हादसे भी होंगें
हम तो बेमतलब ही डरा करते हैं
कलाम कुछ लिखेंगें तो कुछ कमाल भी होंगें
तहरीर कहती है जहन में आपका बसेरा है
मशअले दर्द शामों सहर जलाने होंगें
इकरार से क्यों बेसबब ही डरते हैं
कभी तो सागरों में चांद उतरे होंगें
उसी से चकोर आज तक मदहोश रहते हैं ।

18 टिप्‍पणियां:

Pankaj Mishra ने कहा…

सही है जिन्दगी जीना है तो कुछ मुस्किले तो होगी ही

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

अच्छी रचना है।

Priya ने कहा…

achcha likha hai aapne

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

सुन्दर रचना. ज़िन्दगी है तो कठिनाइयों का सामना भी करना ही होगा.

Kajal Kumar ने कहा…

जिंदगी हादसों का ही दूसरा नाम है

योगेश स्वप्न ने कहा…

wah . chand ka utarna.

chand ko alien to nahin bana diya aapne. ha ha ha. bura na mane , mazak tha.

bahut sunder pyari rachna, badhai.

समयचक्र ने कहा…

सुन्दर रचना, नवरात्र पर्व की हार्दिक शुभकामनाये ...

naveentyagi ने कहा…

rachna ji bahut achchi rachana hai.

Pawan Kumar ने कहा…

bahut khub

chander ने कहा…

bhai waah jindgi hai to hadse bhi honge. jindgi ki is anjani hakikat ko bkhubi shado main peroya hai apane anjani is liye kyo ki hum jante hai phir bhi pareshan rahte hain jindi main haadso ka ana jana to laga hi rahta hai. our chand chkor wali line bhi bahut hai.

Ravi Srivastava ने कहा…

आज मुझे आप का ब्लॉग देखने का सुअवसर मिला।
सचमुच में बहुत ही प्रभावशाली लेखन है... वाह…!!! वाकई आपने बहुत अच्छा लिखा है। बहुत सुन्दरता पूर्ण ढंग से भावनाओं का सजीव चित्रण... आशा है आपकी कलम इसी तरह चलती रहेगी और हमें अच्छी -अच्छी रचनाएं पढ़ने को मिलेंगे, सुन्दर रचना, नवरात्र पर्व की हार्दिक शुभकामनाये. बधाई स्वीकारें।

आप के द्वारा दी गई प्रतिक्रियाएं मेरा मार्गदर्शन एवं प्रोत्साहन करती हैं। आप मेरे ब्लॉग पर आये और एक उत्साहवर्धक प्रतिक्रिया दिया…. शुक्रिया.
आशा है आप इसी तरह सदैव स्नेह बनाएं रखेगें….

Ashwini Kumar ने कहा…

Rachna ji, Aapke blog par aakar pata laga ki aapse purv parichay hai jab main Aakashwani Kota me karyarat tha.... par aapke is roop ka parichaya to pahali baar hi hua hai...
Achchha lekhan hai... Shubhkamnaaen..

Ashwini Kumar

Vimla Bhandari ने कहा…

आपका ब्लोग अच्छा लगा, बधाई! आपने अपने रचना संसार को बहुत सुन्दर तरीके से प्रस्तुत किया. आपकी कुछ रचना पढी - परिपक्व व सुन्दर लेखन. पुनः बधाई.

Sahil ने कहा…

जिन्दगी है तो कुछ हादसे भी होंगें

भावनाओं का सुंदर प्रस्तुतीकरण

विपिन बिहारी गोयल ने कहा…

वाह खूब कहा आपने

POTPOURRI ने कहा…

बहुत ही सुन्दरता से बहुत ही कम शब्दों में आपने कितना कुछ कह दिया. आप का ब्लॉग अति सुन्दर है आपकी रचनाओ की तरह.

uthojago ने कहा…

nice expressions

Mustfa Mahir Pantnagari ने कहा…

behad umda hai lekin agar behar(timing) mein hota to iska saani koi na tha